DHIBREE NEWS CHANNEL – A Satire

‘ढिबरी न्यूज’ में भर्ती अभियान

by विनोद विप्लव

 ‘ढिबरी न्यूज’ मृत्यु लोक, पताल लोक एवं आकाश लोक की अफवाहों और बेसिर-पैर वाली खबरों को प्रचारित-प्रसारित करने वाला एकमात्र प्रामाणिक चैनल, जिसका ध्येय वाक्य है- ‘आपको रखे सबसे पीछे’। ढिबरी न्यूज को अपने विस्तार के दूसरे चरण में उटपटांग घटनाओं, भूत-प्रेत से संबंधित बकवासों, अंधविश्वास को बढ़ावा देने वाली बेतुकी बातों और प्रेम लीलाएं करने वालों की मूर्खतापूर्ण हरकतों के संग्रह के लिये भारी संख्या में रिपोर्टरों की जरूरत है।

कुछ राजनीतिक दलों, भ्रष्ट व्यवसायियों, दंगाइयों, पाखंडियों और धर्म के नाम पर दुकानें चलाने वालों के काले धन से चलाये जा रहे इस चैनल का लक्ष्य कम से कम समय में भारत की सम्पूर्ण आबादी को अंधविश्वासी, विवेकहीन, मूर्ख और अज्ञानी बना देना है ताकि हमें धन उपलब्ध कराने वालों को अपने गोरखधंधे करने में आसानी हो।  

अगर आप बिना सोचे-समझे लगातार घंटों बेमतलब के चीख-चिल्ला सकते हैं, टीआरपी बढ़ाने के लिये नदी-तालाब, अखाड़े और आग में कूद सकते हैं, पति-पत्नियों के बीच झगड़े करा सकते हैं और झगड़े को सीधा प्रसारित कर सकते हैं, स्टिंग करके किसी इज्जतदार की इज्जत-आबरू सरेआम उतार सकते हैं, आए दिन धरती के विनाश की घोषणायें करके लोगों में खौफ पैदा कर सकते हैं, कहीं भी, कभी भी और किसी के भी हाथों जलील हो सकते हैं, उफ किये बगैर घंटों तक लात-घूंसे खा सकते हैं, सूडान में बैठकर इराक युद्ध की रिपोर्टिंग कर सकते हैं, स्टूडियो में बंदर की तरह दौड़-दौड़ कर खबरें पढ़ सकते हैं, अच्छी खासी हवेलियों को भुतहा बना कर दिखा सकते हैं और बाइट देने वालों से ऐसे सवाल पूछ सकते हैं जिन्हें सुन कर दर्शक अपने सिर के बाल नोंच लें तथा बाइट देने वाला बाद में अपना सिर फोड़ ले तो एक शानदार करियर आपका इंतजार कर रहा है।

शैक्षणिक योग्यताएं :

स्नातक। अगर आपने जुगाड़ करके, चोरी करके अथवा घूस देकर फर्जी डिग्रियां हासिल की हैं तो आपको चयन में वरीयता दी जायेगी। पढ़ने-लिखने से सख्त नफरत हो।

पढ़ने-लिखने की आदतों के शिकार लोग कृपया आवेदन नहीं करें।

सामान्य ज्ञान में सिफर।

चापलूसी और मक्खनबाजी में विशेषज्ञता।

स्टूडियो में बुलाये गए विषेशज्ञों को बोलने देने के बजाय खुद ही चीखने-चिल्लाने की काबलियत।

शारीरिक क्षमताएं :

जैक आफ आल ट्रिक्स।

बंदर की तरह उछल-कूद करने की क्षमता।

रोजना कम से कम दस जूते, दस तमाचे और दस घूसे खाने के क्षमता।

दंगा, हिंसा व अफवाहें फैलाने में माहिर। ऐसी गतिविधियों में शामिल रहे उम्मीदवारों को वरीयता दी जायेगी।

चीखने-चिल्लाने की क्षमता समान्य मनुष्य की तुलना में कम से कम दस गुनी हो। त्रासदपूर्ण घटनाओं की खबरें उछल-कूद कर तथा चीख-चिल्ला कर सुनाने वालों को शीघ्र पदोन्नति। दरअसल हमारा लक्ष्य अपने दर्शकों को छह महीने के भीतर बहरा बना देने का है और इस लक्ष्य को पूरा करने में सर्वाधिक योगदान देने वालों को ”पदमश्री सम्मान” के लिये सरकार के पास सिफारिश भेजी जायेगी।

मानसिक क्षमताएं :

दिल में पत्थर और दिमाग में भूसा भरा हो। दिल-दिमाग रखने वाले किसी उम्मीदवार की अगर भूलवश नियुक्ति जाए तो उन्हें नौकरी पर आने से पहले ये दोनों व्यर्थ पदार्थं घर पर ही छोड़ने होंगे।

किसी के मरने जीने से कोई मतलब नहीं रखना, केवल टीआरपी पर निगाह रखना।

दिल इतना कठोर हो कि कोई अगर आग लगाकर खुदकुशी कर रहा हो तो उसे बचाने के बजाए उस पर पेट्रोल डाल कर उसे शीघ्र जलने में मदद करें और छटपटाते हुए आदमी की शॉट लेते रहें।

हर समय मां-बहन की गालियां खुशी-खुशी बर्दाश्त करने तथा दूसरों को भी ऐसी गालियां सुनाने की काबिलियत।

पदोन्नति की शर्तें :

ढिबरी न्यूज में रिपोर्टर पद पर बहाली के बाद आपको वरिष्ठ रिपोर्टर के रूप में पदोन्नति दी जाएगी। पदोन्नति के लिए कार्य प्रदर्शन आंकने का आधार आपकी खबरें होगीं। अगर आप अपनी खबरों से आग लगा सकते हैं, दंगे भड़का सकते हैं, सिर फुटौव्वल करा सकते हैं, हत्याएं-आत्महत्याएं करवा सकते हैं और लोगों को अंधविश्वासी बना सकते हैं तो आपको तत्काल पदोन्नति दी जाएगी। जिस दिन आपकी किसी खबर से दंगे फैल जाए या गुमराह होकर कुछ लोग खुदकुशी कर लें या कुछ लोग इतने अंधविश्वासी बन जाएं कि वे बच्चों की बलि देने लगें तो आपकी सेलरी दोगुनी कर दी जाएगी। आपको ढिबरी न्यूज की ओर से नि:शुल्क दस ढिबरियां, माचिस और हर महीने दस लीटर मिट्टी का तेल मुहैया कराया जाएगा जिनका इस्तेमाल आप तब कर सकते हैं जब आपकी खबर से कहीं आग न लगे लेकिन टीआरपी बढ़ाने अथवा आपकी पदोन्नति के लिए ऐसा करना जरूरी हो जाए।

नेट – ‘ यह व्‍यंग्‍य भडास4मीडिया पर भी प्रकाशित हो चुका है। 

Advertisements

2 thoughts on “DHIBREE NEWS CHANNEL – A Satire

Add yours

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

Create a website or blog at WordPress.com

Up ↑

%d bloggers like this: